इश्क StatUs  – Ishq ShayAri

By | 23rd June 2019

इश्क StatUs  – Ishq ShayAr

दोस्तो आज की पोस्ट खास हैं जो  Ishq Shayari  के ऊपर बनाया गया हैं जिसमे आप सभी पढ़ सकते हैं ढेरो  इश्क Status  को जो आप सभी इश्क करने वाले वाले दोस्तों को पसंद आएगा। क्युकी यह पोस्ट खास उन सभी आशिको के लिए हैं, जिन्हे इश्क हुआ हैं किसी से. और यह पोस्ट उन सभी के प्यार की जुबान बनेगा प्यार भरे अल्फ़ाज़ों के साथ  Ishq Shayari के इस कलेक्शन में.

तो आईये पढ़ते इश्क के रंगो से रंगी इश्क Status की इस लाज़वाब किताब को और अपनी मनपसंद शायरी को अपनी मेहबूबा को शेयर या पोस्ट करे कीजिये।

 

सिर्फ अल्फाज और लफ्ज ही नहीं,
मेरी खामोशियाँ भी तुझे बुलाती है !!

 

बात दिल की थी इसलिए मैंने
तुमसे दिल खोल कर मोहब्बत की !!

 

साँसे मेरी, जिन्दगी मेरी और मोहब्बत भी मेरी,
मगर हर चीज मुकम्मल करने के लिए जरुरत तेरी !!

 

आज तो बस साफ़ साफ़ बता दो,
मेरा होना है या मुझे खोना है !!

 

किसी कहने वाले ने भी क्या खूब कहा है,
की मेरी ज़िन्दगी इतनी प्यारी नहीं की मैं मौत से डरु !!

 

मुझे आज खुद को पढ़ने की ख्वाहिश हुई,
मैं पुराने पन्ने पलटती रही और तू ही तू दिखता रहा मुझे !!

जितना रूठना है आज रूठ ले पगली,
जिस दिन हम रूठ गए…तू जिना भूल जायेगी !!

 

आंधियो ने लाख बढाया हौसला धूल का,
दो बूंद बारिश ने औकात बता दी !!

 

जला रखे है मैंने सौ दीये,
तुम आओ तो रौशनी हो !!

 

तुझे सच मुच जुड़ना है अगर मेरी जिन्दगी के साथ,
तो कुबूल कर मुझे मेरी हर कमी के साथ !!

 

तू अगर चली गई छोड़कर मुझे अकेला,
तो ले जाना उन पलों को भी जो तेरे बिना मेरी जान ले लेगें !!

 

तेरी हजार गलतियाँ माफ़ है,
लेकिन बेवफाई एक भी नहीं !!

 

 

एक वक्त था जब बातें ही खत्म नहीं होती थी,
आज सबकुछ खत्म हो गया मगर बात नहीं होती !!

 

मिले तुम तो मिल गया सब,
मानो जैसे पा लिया मैंने रब !!

 

बहोत ख़ास थे कभी,
किसीकी नज़रों में हम भी !!

 

भीड़ बहोत है ना तेरे दिल में,
चल मैं ही निकल जाता हूँ !!

 

ना इश्क है तुझसे ना तेरी चाहत है,
बस तुझसे बात करके एक सुकून सा मिलता है !!

 

कितने भी काँटे क्यों ना हों राहो में,
आवाज़ अगर दिल से दोगी तो आएंगे ज़रूर !!

 

इस तपती धुप में ढूँढा है तुम को,
छाव किसी और को मत दे देना !!

क्यूँ बार बार देखती हो शीशे को तुम,
नजर लगाओगी क्या मेरी इकलोती मोहब्बत को !!

 

अब इस जिन्दगी को थोड़ा सुकुन चाहिए,
मतलब मुझे तू और सिर्फ तू चाहिए !!

 

बेवफा भी नहीं कह सकते उस ज़ालिम को,
प्यार तो हमने किया है वो तो बेक़सूर था !!

 

यूँ तो हमने बंद कर दिए है सारे दरवाजे इश्क के,
पर तेरी याद है की अब भी दरारों से आ जाती है !!

 

उम्र भर साथ कौन निभाता है,
कोई आज तो कोई कल साथ छोड़ ही जाता है !!

 

मेरी बेकरारी देखी है तूने कभी सब्र भी देख,
मैं इतना खामोश हो जाऊँगी की तू चिल्ला उठेगा !!

 

वो इस अंदाज की मुझसे मोहब्बत चाहता है,
मेरे हर ख्वाब पर भी अपनी हुकूमत चाहता है !!

 

तेरे दिल में क्या है ये तो तु ही जाने,
मेरे होंठ तो आज भी मुस्कुरा जाते है तुझे सोचकर !!

 

हम तो इस वास्ते चुप है की कोई तमासा ना बने,
तुम समजते हो की मुझे तुमसे गिला कुछ भी नहीं !!

 

बड़ा कीमती खिलौना है मेरा दिल,
इससे खेलने आसमान से परी आयी थी !!

 

चाहतो की हद तक चाहा तुम्हें,
बस अपना दिल चीर कर दिखा न सके !!

 

ख्वाबो में मैंने कई बार देखा है खुद को,
उसकी गली में भटकते हुए !!

भटकने की आरजू किसको है,
जो तुम मिल जाओ तो ठहर जाऊ मैं !!

 

मेरा सबकुछ रख लो ए मोहब्बत के वकीलों,
बस मुझे उसकी यादों की कैद से रिहाई चाहिए !!

 

आज भी मैं बिना पानी पिए सो रही हूँ,
क्यूंकि मेरे दिल की आग सिर्फ मेरे आंसू से बुझती है !!

 

मिले थे एक अजनबी बनकर,
आज मेरी जिन्दगी की जरुरत हो तुम !!

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *