इश्क StatUs  – Ishq ShayAri

By | 23rd June 2019

इश्क StatUs  – Ishq ShayAr

दोस्तो आज की पोस्ट खास हैं जो  Ishq Shayari  के ऊपर बनाया गया हैं जिसमे आप सभी पढ़ सकते हैं ढेरो  इश्क Status  को जो आप सभी इश्क करने वाले वाले दोस्तों को पसंद आएगा। क्युकी यह पोस्ट खास उन सभी आशिको के लिए हैं, जिन्हे इश्क हुआ हैं किसी से. और यह पोस्ट उन सभी के प्यार की जुबान बनेगा प्यार भरे अल्फ़ाज़ों के साथ  Ishq Shayari के इस कलेक्शन में.

तो आईये पढ़ते इश्क के रंगो से रंगी इश्क Status की इस लाज़वाब किताब को और अपनी मनपसंद शायरी को अपनी मेहबूबा को शेयर या पोस्ट करे कीजिये।

 

 

 

बिना बात पूछे मुझे गले से लगाया है,
शायद मेरा दर्द आज उसे समझ में आया है !!

 

मुझे नींद की इजाज़त भी उसकी यादों से लेनी पड़ती है,
जो खुद तो सो जाता है मुझे करवटों में छोड़ कर !!

 

हमने भी मुआवजे की अर्जी डाली है साहब,
उनकी यादों की बारिश ने काफ़ी नुकसान पहुँचाया है !!

 

कभी भूलकर भी मत जाना मोहब्बत के जंगल में,
यहाँ सांप नहीं हमसफ़र डसा करते है !!

 

काश मेरे बस में होता तुझे भुल जाना,
फिर हम भी सो जाते तेरी तरह बेपरवाह होकर !!

 

जिस्म की बात नहीं थी उनके दिल तक जाना था,
लम्बी दूरी तय करनें में वक़्त तो लगता है !!

 

बस आख़री साँस बाकी है,
तुम आते हो या मैं ले लूँ !!

तेरी नींदों में दखल क्यूँ दे भला,
तेरा सुकून ही मेरा मकसद बन गया है !!

बहुत सुकून मिलता है सच्चे प्यार में,
पूरी दुनिया सिमट जाती है अपने यार में !!

 

लोग कहते है की जो दर्द देता है वो ही दवा देता है,
पता नहीं ऐसी फालतू बातो को कौन हवा देता है !!

 

जो लोग दूसरों की आँखों में आँसूं भरते है,
वो क्यूँ भूल जाते है की उनके पास भी दो आँखें है !!

 

मिल गया होगा कोई गज़ब का हमसफर,
वरना मेरा यार यूँ बदलने वाला तो ना था !!

 

ना उसने मुड़ कर देखा ना हमने पलट कर आवाज दी,
अजीब सा वक्त था जिसने हम दोनों को पत्थर बना दिया !!

 

‎ऐ‬ जिंदगी इस बार मुझे तोड़कर ऐसा बिखेर,
ना मैं खुद जुड़ पाऊँ और ना कोई फिर से तोड़ पाए !!

 

मोहब्बत हाथ में पहनी गयी चूड़ी की तरह होती है,
खनकती है, संवरती है और आखिर टूट जाती है !!

 

तेरी गली का सफर आज भी याद है मुझे,
मैं कोई वैज्ञानिक नहीं था पर मेरी खोज लाजवाब थी !!

 

प्यार ही माँगा था उससे,
बदन की कमी नहीं हमारे पास !!

 

रोज एक नयी तकलीफ, रोज एक नया गम,
न जाने कब एलान होगा की मर गए है हम !!

 

खुद के रोने की सिसकियाँ अब सुनाई नहीं देती,
हमनें आँसुओं को भी डांट कर समझा रखा है !!

 

बेखबर जमाना क्यूँ ऐतबार नहीं करता,
तराजु में तौलकर तो कोई प्यार नहीं करता !!

 

जिस्म के घाव तो भर ही जायेंगे एक दिन,
खैरियत उनकी पूछो जिनके दिल पर वार हुआ है !!

 

बङे बेताब थे वो मोहब्बत करने को,
जब मैंने भी कर ली तो उन्होने शौक बदल लिया !!

 

दिल सोचता है तो फिर सोचता ही रह जाता है,
ये जो अपने होते है वो अपने क्यूँ नहीं होते !!

 

जिनकी फितरत में हो धोखा देना,
वो लोग चाहकर भी बदल नहीं सकते !!

 

चलो ये जिन्दगी भी अब तुम्हारे नाम करते है,
सूना है बेवफा की बेवफा से खूब बनती है !!

 

कुछ पल का साथ देकर तुमने,
पल पल का मोहताज बना दिया !!

 

एक झलक जो मुझे आज तेरी मिल गइ,
मुझे फिर से आज जीने की वजह मिल गई !!

 

लड़ लिया सबसे,
पर हार गया नसीब से !!

 

बहुत याद आते हो तुम,
दुआ करो मेरी याददाश्त चली जाए !!

 

 

काश तू ‪आये‬ और मुझे गले ‪लगाके‬ कहे,
यार मेरा भी दिल‬ नहीं लग रहा है तेरे बगैर !!

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *