स्कूल का निरिक्षण – डबल रोले

By | 20th February 2019

एक सरकारी स्कूल का इंस्पेक्शन करने शिक्षा अधिकारी आये हुए थे .
एक क्लास में आए और बच्चो से पूछा – “इस क्लास में कौन छात्र एग्जाम में फर्स्ट आया था ?”
मोहन ने हाँथ उठाया .
शिक्षा अधिकारी – “वैरी गुड .. और सेकंड कौन आया था ?”
मोहन ने फिर से हाँथ उठाया .
शिक्षा अधिकारी – “अरे ! एग्जाम में फर्स्ट भी तुम ही आये और सेकंड भी तुम्ही आये ! ये कैसे हो सकता है?”
मोहन – “दरसल सर ! फर्स्ट तो राम आया था , पर वो बगल के गाँव में T20 क्रिकेट मैच देखने गया हैं, इस लिए आज स्कूल नहीं आया . मैं उसके दरपर अटेंडेंस दे रहा हूँ . “

शिक्षा अधिकारी आग बबूला हो गए और क्लास टीचर से बोले -”ये क्या मास्टर साहब ! आपके क्लास में क्या हो रहा हैं?”
मास्टर साहब बोले – “दरसल सर ! मैं तो दुसरे क्लास का क्लास टीचर हूँ . इस क्लास के क्लास टीचर बगल के गाँव में T20 क्रिकेट मैच देखने गए हैं, इस लिए आज स्कूल नहीं आये . मैं उसके दरपर ड्यूटी दे रहा हूँ . “

शिक्षा अधिकारी गुस्से से वहा से निकले और सीधे पहुच गए प्रिंसिपल साहब के ऑफिस में .

“प्रिंसिपल साहब ! क्या चल रहा हैं ? क्लास के लड़के एक दुसरे के जगह अटेंडेंस दे रहे हैं . क्लास टीचर एक दुसरे के दर पर ड्यूटी कर रहे हैं ???”
प्रिंसिपल साहब – “दरसल सर ! मैं तो वाइस प्रिंसिपल हूँ . इस स्कूल के प्रिंसिपल बगल के गाँव में T20 क्रिकेट मैच देखने गए हैं, इस लिए आज स्कूल नहीं आये . मैं उसके दरपर ड्यूटी दे रहा हूँ . “

शिक्षा अधिकारी बडबडाते हुए जाने लगे – “मैं तो सख्त कार्यवाही करता लेकिन इस जिले के शिक्षा अधिकारी बगल के गाँव में T20 क्रिकेट मैच देखने गए हैं, मैं तो दुसरे जिले का शिक्षा अधिकारी हूँ .. मुझसे क्या मतलब …”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *