Bewafa Shayari ( 154 )

By | 26th May 2019

Here you can find all types of Bewafa Shayari in Hindi Font and English Font. Updatepedia Provides Huge Collection of Bewafa shayari in love, Bewafa Shayari for Girlfriend/Boyfriend. Honesty is very necessary in love. But most of GF/BF does not follow the Honestly in relationship. You Must Choose our Bewafa quotes, bewafa status, bewafa poetry, New bewafa shayari in hindi, Sad Bewafa Shayari for Facebook, Whatsapp and Many More. Nowadays sad people are searching highly terms such as Bewafa Shayari for him, Best Bewafaa Shayari for Her, for husband and wife. If you are looking for Best Bewafa Shayari Collection in hindi font or English font, then you are at the right website. Updatepedia.com has a variety of Sad Bewafaai Shayari for Love, Bewafa Poetry, Bewafa Status in Hindi Font, Bewafa Quotes and Many more.

 

पूरी रात रोती रही बरसात भी मेरे संग,
तू तो बेवफ़ा है तुझे सोने से फ़ुर्सत कहाँ है !!

 

सुन बेवफा अपना दिल निकालती हूँ मैं,
तूम फिर एक बार फरेब से निशाना लगाना !!

 

अभी भी बाकी है कुछ उम्मीदें उनसे,
जो मेरी सारी उम्मीदें तोड़कर चले गए !!

 

तुझपे तो चाहतों की इन्तेहा की थी मैंने,
बता तुझे किसी और का होने की जरुरत क्या थी !!

 

ना जाने मेरी मौत कैसी होगी,
पर ये तो तय है की तेरी बेवफाई से तो बेहतर होगी !!

 

अपना था तभी तो तनहा छोड़ गया,
गैर होता तो शायद वफ़ा करता !!

 

जब से तू दगा कर गया है,
तब से मुझे अपनी परछाई से भी डर लगता है !!

 

अक्सर लोगों की वफ़ा तब तक होती है,
जब तक कोई मतलब होता है !!

 

डूबी है मेरी उंगलियाँ मेरे ही खून में,
ये काँच के टुकड़ो पर भरोसे की सज़ा है !!

 

इतनी शिद्दत से उसने की है बेवफ़ाई,
अब टूटना तो मेरे दिल का फर्ज़ बनता है !!

 

अपनी वफ़ा का इतना दावा ना किया कर,
मैंने रूह को जिस्म से बेवफाई करते देखा है !!

 

मेरी वफ़ाओं का मुझको सिला वो क्या देगी,
मैं जानता हूँ की मजबूरियाँ गिना देगी !!

 

मेरे क़दम भी रुक गये उसके माथे पर सिंदूर देख कर,
उसने भी देखो यारों अपनी कार का शीशा चढ़ा लिया !!

 

आंखे बंद करके चलाना खंजर मुझ पर,
कहीं मैं मुस्कराया तो तुम पहले मर जाओगे !!

 

हमें बेवफा बोलने वाले तू भी सुन ले आज,
जिनकी फितरत बेवफाई होती है उनके साथ कब वफ़ा होती है !!

 

कितना लुफ्त ले रहे है लोग मेरे इश्क का,
बेवफा देख तूने तो मेरा तमाशा बना दिया !!

 

मेरे शिकवों पे उसने हंस कर कहा,
किसने की थी वफ़ा जो हम करते !!

 

पहले जो मुझे अपना खुदा माना करती थी,
आज किसी और को अपनी ज़िंदगी बनाए बैठी है !!

 

अब किसी और के वास्ते ही सही,
तेरे मुस्कुराने के अंदाज़ वैसे ही है !!

 

मोहब्बत के ख्वाब जितने मरजी सजा लो तुम,
बेवफाई एक झटके में सबको चकनाचूर कर देगी !!

 

तेरी तरह ये ढलता हुवा सुरज भी,
हर रोज बेवफाई कर जाता है अपने उजाले से !!

 

तुम चाहे बेवफा ही सही,
पर आज भी तुम्हारे दर्द से मुझे दर्द होता है !!

 

तेरी ना हो सकी तो मर जाउंगी मैं,
कितना खुबसूरत वो झूठ बोलती थी !!

 

कोई उम्मीद नहीं थी उनसे वफ़ा की हमें,
बस एक जिद थी की दिल टूटे तो उनके हाथों से !!

 

जिस पर भी यकीन करो वही छोड़ने की सोचता है,
ना जाने दुनिया वालों को वफ़ा अच्छी क्यूँ नहीं लगती !!

 

तुझे क्या फर्क पड़ेगा मुझसे बिछड़ने से,
सच्ची मोहब्बत तो मेरी है तेरी नहीं !!

 

मोहब्बत में हर चीज़ कबूल थी तेरी यारा,
बस तेरी मोहब्बत का बंटवारा हमसे देखा न गया !!

 

लाख कसमें ले लो किसीसे,
छोड़ने वाले छोड़ ही जाते है !!

 

हम आपसे थोडा गुस्से क्या हुए,
आप तो सच में बेवफा हो गए !!

 

सोचती हूँ अब खुद पर ही लगा दूँ इल्जाम,
दिल मानता ही नहीं की तुम बेवफा थे !!

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *