Ishq sayari -75

By | 23rd June 2019

दोस्तो आज की पोस्ट खास हैं जो  Ishq Shayari  के ऊपर बनाया गया हैं जिसमे आप सभी पढ़ सकते हैं ढेरो  इश्क Status  को जो आप सभी इश्क करने वाले वाले दोस्तों को पसंद आएगा। क्युकी यह पोस्ट खास उन सभी आशिको के लिए हैं, जिन्हे इश्क हुआ हैं किसी से. और यह पोस्ट उन सभी के प्यार की जुबान बनेगा प्यार भरे अल्फ़ाज़ों के साथ  Ishq Shayari के इस कलेक्शन में.

तो आईये पढ़ते इश्क के रंगो से रंगी इश्क Status की इस लाज़वाब किताब को और अपनी मनपसंद शायरी को अपनी मेहबूबा को शेयर या पोस्ट करे कीजिये।

 

 

 

उसके ना होने से कुछ भी नहीं बदला मुझ में,
बस जहाँ पहले दिल रहता था वहां अब सिर्फ दर्द रहता है !!

 

तेरी महेफिल और मेरी आँखें,
दोनों भरी भरी है !!

 

तेरे जाने के बाद कौन रोकता मुझे,
जी भर के खुद को बरबाद किया !!

 

खुदा भी जब तुम्हे मेरे पास देखता होगा,
इतनी अनमोल चीज कैसे दे दी ये सोचता होगा !!

 

उस बेवफा ने फ़िर से सलाम भेजा है,
उसकी फिर किसीसे बिगड़ गयी होगी !!

 

इन में खतरा है डूब जाने का,
झांकिये मत जनाब आँखों में !!

 

हर रूप में कबूल है तु मुझे,
शर्त इतनी सी है की झुठ का हर नकाब हटा के आओ !!

 

डूबी है मेरी उंगलिया खुद अपने लहू में,
ये कांच के टुकडो को उठाने की सजा है !!

 

उससे ताल्लुक ही कुछ ऐसा रहा है मेरा,
की जब भी सोचा उसे तो आँखें भर आयी !!

 

ये वक़्त बेवक़्त मेरे ख्यालों में आने की आदत छोड़ दो तुम,
कसूर तुम्हारा होता है और लोग मुझे आवारा समझते है !!

 

हो सके तो वक्त पे लौट आना ए बेवफा,
वरना मेरी साँसो की जगह मेरी राख मिलेगी !!

 

तेरे होठो की इज्जत का ख्याल आता है पगली,
वरना फूलो को तो हम सरे आम चुम लेते है !!

 

याद करते हो मगर ज़ाहिर नहीं करते,
कितना डरते हो तुम अपने आप से !!

 

कुछ ठोकरों के बाद नज़ाक़त आ ही गई मुझमें,
मैं अब दिल के मशवरों पे भरोसा नहीं करता !!

 

क्या ज़रूरत थी दूर जाने की,
पास रहकर भी तो तड़पा सकते थे !!

 

खामोशियाँ कर दे बयाँ तो अलग बात है,
कुछ दर्द एसे भी है जो लफ्जों में उतारे नहीं जाते !!

 

कुछ पल के लिए अपनी सांसे रोक कर देखो,
बस इतनी ही तकलीफ देती है आपकी जुदाई हमें !!

 

दिल-ए-मासूम पे क़ातिलाना हमले,
अपनी आँखों से कहो ज़रा तमीज़ से रहे !!

 

आप उन्हीं के लिए खास है,
जिन्हें आपसे कुछ आस है !!

 

मुझे आज भी यकीन है की तु एक दिन लौटकर आयेगा,
चाहे वो दिन मेरी मौत का ही क्यों ना हो !!

 

खून का हर क़तरा जिस्म में कहता है की तुम्हे भुला दूं,
मगर यह दिल आज भी कहता है की मुझे तुमसे मोहब्बत है !!

 

मोहब्बत क्या है चलो दो लफ़्ज़ों में बताते है,
तेरा मजबूर कर देना और मेरा मज़बूर हो जाना !!

 

एक दिन यूँ ही चूम लिया था तेरे होठो को,
और देख आज हर कोई मेरे लफ़्ज़ों की तारीफ करता है !!

 

गजब की चीज है मेरे मेहबूब की मुस्कुराहट भी
कमबक्त कातिल भी है और गम की दवा भी !!

 

अगर होता जोर तुम पर तो दुनिया से तुम्हे चुरा लेते,
दिल के मकान में ताला लगाकर चाबी पानी में बहा देते !!

 

आज‬ उसने ‪एक अजीब‬ सवाल ‪कर‬ दिया मुझसे,
मरते तो‬ मुझ‬ पर हो ‎फिर‬ जीते ‪किसके‬ लिए हो !!

 

कुछ लोग हमारी जिन्दगी होते है,
पर जिन्दगी में नहीं होते !!

 

इतना दर्द तो मुझे मरने से भी नहीं होगा,
जितना दर्द तुम्हारी खामोशी ने दिया है !!

 

सुकून तो तुम ही ले गये जो पास था मेरे,
अब हमे तुम्हारे साथ ही उसका भी इंतज़ार है !!

 

तड़पा कर तू मुझको दिल मेरा बेकरार न कर,
तीर पे तीर चला के तू दिल के मेरे आर पार न कर !!

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *