Ishq sayari in hindi

By | 23rd June 2019

दोस्तो आज की पोस्ट खास हैं जो  Ishq Shayari  के ऊपर बनाया गया हैं जिसमे आप सभी पढ़ सकते हैं ढेरो  इश्क Status  को जो आप सभी इश्क करने वाले वाले दोस्तों को पसंद आएगा। क्युकी यह पोस्ट खास उन सभी आशिको के लिए हैं, जिन्हे इश्क हुआ हैं किसी से. और यह पोस्ट उन सभी के प्यार की जुबान बनेगा प्यार भरे अल्फ़ाज़ों के साथ  Ishq Shayari के इस कलेक्शन में.

तो आईये पढ़ते इश्क के रंगो से रंगी इश्क Status की इस लाज़वाब किताब को और अपनी मनपसंद शायरी को अपनी मेहबूबा को शेयर या पोस्ट करे कीजिये।

 

 

हिचकियाँ हमने भी न रोकी ये सोचकर,
जरा देखें,कोई किस हद तक हमें याद करता है !!

 

रात सारी तड़पते रहेंगे हम अब,
आज फिर ख़त तेरे पढ़ लिए शाम को !!

 

कभी कभी मुस्कुराने से भी डर लगता है,
मुस्कुराने के बाद हंमेशा रोना जो पड़ता है !!

 

तुम्हे इस हद तक चाहने की तमन्ना है की,
मेरे जाने के बाद भी तुम मेरे लिए जी सको !!

 

डर रहा हूँ आजकल मैं वफाओं से,
लेकिन इसका ये मतलब तो नहीं की हम बेवफा है !!

 

उजाड़ के मेरी दुनिया कितने खुश है वो,
जो कभी हमारे थोड़े से रुठने पे खुद भी रोया करते थे !!

 

तेरी नफरत में वो दम कहाँ,
जो मेरी चाहत को कम कर दे !!

 

ए दिल जरा धीरे से धड़कना,
कहीं चोट ना लग जाए उसे जो इस दिल में रहता है !!

 

मेरी फ़ितरत में नहीं था तमाशा करना,
बहुत कुछ जानते थे मगर ख़ामोश रहे !!

 

कितना ही खुश रहने की कोशिश कर लो,
जब भी कोई याद आता है तो सच में बहुत रुलाता है !!

 

?बहुत खूबसूरत होते हैं वो पल….?
जिसमे दोस्त साथ होते हैं
लेकिन उससे भी खूबसूरत हैं
वो लम्हें जब दूर रहकर भी
वो हमें याद करते हैं.
?

 

 

रोज ख्वाबों में जीती हूँ वो जिन्दगी,
जो तेरे साथ मैनें हकीकत में सोची थी !!

 

सौ बार कहा दिल से की चल भूल भी जा उसको,
सौ बार कहा दिल ने की तुम दिल से नहीं कहते !!

 

प्यार में ताकत है दुनिया को झुकाने की,
वरना क्या जरूरत थी राम को झूठे बोर खाने की !!

 

दिल की ख़ामोशी पर मत जाओ साहेब,
राख के नीचे अक्सर आग दबी होती है !!

 

उल्फत की बात है हुजूर जरा सलीके से कीजिये,
सड़को पर यूँ हाथ पकड़कर मोहब्बत नहीं चला करती !!

 

सब आदतें छोड़ सकता हूँ ,
तुम्हारे लिए और तुम्हारे सिवा !!

 

एक नखरे तेरे और एक मोहब्बत मेरी,
दोनों ही कितने लाजवाब है !!

 

बहुत ही खूबसूरत है तेरे अहसास की खुश्बू
जितना भी सोचते है उतना ही महक जाते है !!

 

जख्म दे जाती है उसकी आवाज मुझको आज भी,
जो बरसों पहले कहती थी की बहुत प्यार करती हूँ तुमसे !!

 

ये मेरी मोहब्बत और उसकी नफ़रत का मामला है,
ऐ मेरे नसीब तू बीच में दखल-अंदाज़ी मत कर !

 

अच्छा हुआ जो मालुम हो गया की हम उनके दिल में नहीं है,
वरना हम तो अपना घर भी छोड रहे थे उनके दिल में बसने के लिये !!

 

मैं वही मेरी चाहत भी वही,
पर तू बदल गया मेरे वक्त की तरह !!

 

 

वो मुझसे दूर रहकर खुश है,
और मैं उसे खुश देखने के लिए दूर हूँ !!

 

हर एक बार मना लेते अगर तुम पास होते,
हर एक खता की वजह बता देते अगर तुम साथ होती !!

 

अंजान अगर हो तो गुज़र क्यूँ नहीं जाते,
पहचान रहे हो तो ठहर क्यूँ नहीं जाते !!

 

दर्द हल्का है और साँसे भारी है,
जिए जाने की रसम जारी है !!

 

जो कयामत उसने मेरे दिल पर ढाई है,
सच कहते है लोग मौत से बुरी जुदाई है !!

 

दिल भी जिद पर अड़ा है बच्चे की तरह,
या तो तू चाहिए या फिर कुछ भी नहीं !!

 

गुलाबों को भी नहीं आया अभी तक इस तरह खिलना,
सबेरे जिस तरह तुम नींद से बेदार होती हो !!

 

इतना तो किसी ने चाहा भी ना होगा,
जितना मैंने सिर्फ सोचा है तुमको !!

 

हमको टालने का शायद तुमको सलीका आ गया,
बात तो करते हो लेकिन अब तुम अपने नहीं लगते !!

 

तुम बुझा कर चल तो दिए मेरी यादों के चिराग़,
क्या करोगे अगर रास्ते में कहीं रात हो गयी !!

 

फरक नहीं पड़ता जो अब कोई दिल दुखाये,
बता दो उन्हें घावो पर घाव दर्द नहीं करते !!

 

बैठे थे अपनी मस्ती में की अचानक तड़प उठे,
आ कर तुम्हारी याद ने अच्छा नहीं किया !!

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *