Ishq sayari in hindi

By | 23rd June 2019

दोस्तो आज की पोस्ट खास हैं जो  Ishq Shayari  के ऊपर बनाया गया हैं जिसमे आप सभी पढ़ सकते हैं ढेरो  इश्क Status  को जो आप सभी इश्क करने वाले वाले दोस्तों को पसंद आएगा। क्युकी यह पोस्ट खास उन सभी आशिको के लिए हैं, जिन्हे इश्क हुआ हैं किसी से. और यह पोस्ट उन सभी के प्यार की जुबान बनेगा प्यार भरे अल्फ़ाज़ों के साथ  Ishq Shayari के इस कलेक्शन में.

तो आईये पढ़ते इश्क के रंगो से रंगी इश्क Status की इस लाज़वाब किताब को और अपनी मनपसंद शायरी को अपनी मेहबूबा को शेयर या पोस्ट करे कीजिये।

 

हम ने चलना छोड़ दिया अब उन राहों में,
टूटे वादों के टुकड़े चुभते है अब पांवो में !!

 

बड़ी ही ताकत थी उनके अल्फ़ाज़ में यारों,
पत्थर सा दिल मेरा पल भर में चूर कर दिया !!

 

अगर मोहब्बत सच्ची है तो,
आखरी सांस तक इंतजार कर सकती है !!

 

मेरी जिन्दगी मेरे साथ चल,
तू थाम के मेरा हाथ चल !!

 

मोहब्बत किससे कब हो जाए अंदाजा नहीं होता,
ये वो घर है जिसका कोई दरवाजा नहीं होता !!

 

 

उसके इश्क ने मुझे इस हद तक रुला दिया,
की अब कैसे जिऊ आगे ये तक भूला दिया !!

 

हँसते हँसते भी अक्सर रो पड़ती है ये निगाहें,
याद जब जब आता है खोया हुआ चेहरा तेरा !!

 

तुमने तीर चलाया तो कोई बात न थी,
ज़ख्म मैंने जो दिखाया तो बुरा मान गए !!

 

मैंने काँटो को छूकर बताया था उसे,
ऐसे चुभता है तेरा बदला हुआ लहजा मुझे !!

 

चल तुझे दिखा दूँ अपने वीरान दिल की गलियाँ,
शायद तुझे तरस आ जाए मेरी उदास जिन्दगी पर !!

 

अजीब सी बेताबी है तुम बिन,
रह भी लेते है और रहा भी नहीं जाता !!

 

दूरियाँ खुद ही बढ़ जाती है,
अक्सर जब मोहब्बतें बदल जाती है !!

 

दिल के पास दिमाग नहीं होता,
और जो दिमाग से हो वो प्यार नहीं होता !!

 

अगर तुम सच्चे दिल से मेरे हो,
तो बस एक तुम ही काफी हो !!

 

दिखते है पर नज़र नहीं आते,
कुछ लोग कितने दूर हो जाते है !!

 

तुम होते तो होता बस इतना,
की हम भी जी रहे होते !!

 

 

उसने जब फूल को छुआ होगा,
होश खुश्बू के भी उड़ गए होंगे !!

 

आदत सी हो गई है तन्हा रहने की,
भीड़ से अब डर लगने लगा है !!

 

लिपट जाती अगर ज़माने का डर ना होता,
बसा लेती तुमको अगर सीने में घर होता !!

 

वो सच कहते थे की हमारी मुस्कान बहुत अच्छी है,
इसलिए तो वो अपने साथ हमें नहीं पर हमारी मुस्कान ले गए !!

 

कभी देखी है सूरत आईने में अपनी,
तुम खुद के कम और मेरे ज्यादा लगते हो !!

 

ये तेरी आधी अधूरी मोहब्बत मुझे तकलीफ देती है,
ना खुद मरती है और ना ही मेरी जान लेती है !!

 

 

हर वक्त मेरा वहम नहीं जाता,
एक बार और कह दो की तुम मेरे हो !!

 

जब रिश्तों में ग़लतफ़हमियाँ बढ़ जाए तो,
सच्चा प्यार भी झूठा लगने लगता है !!

 

तरस जाओगे हमारे लबों से सुनने को एक एक लफ्ज,
जब हम प्यार की बातें तो क्या शिकायत भी नहीं करेंगे !!

 

तुम्हे खुश देखकर ही खुश हो जाता हूँ ,
और अब तू ही बता सच्ची मोहब्बत क्या होती है !!

 

अँधेरे के रंग या रौशनी की जंग,
कोई कहाँ है मेरा अपना !!

कहीं तेरा विश्वास तो नहीं डोल गया मुझ पर से,
क्यूंकि आज अचानक हिल गयी ये जमीं फिर से !!

 

लगाकर फुल होठों से कहा उसने ये चुपके से,
अगर कोई पास ना होता तो फुल की जगह तुम होते !!

 

अब तो नींद भी बच बच के चलती है मुझसे,
वाह रे मोहब्बत तू तो चैन से सोने भी नहीं देती !!

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *