MOHABBAT SHAYARI, PYAAR BHARI SHAYARI

By | 6th June 2019

Best 2 Lines Love Shayari , Pyaar Bhari Shayari, 2 lines status about mohabbat, pyar shayari images, pyar sms in hindi, Best Mohabbat bhare Sms, hindi love shayari, pyar ki shayari, mohabbat bhari shayari hindi me, Latest Hindi Love Shayari(लव शायरी) with Images,  mohabbat quotes, Two line Mohobbat Shayari in Hindi Font, Pyaar Shayari in English Font, Best Mohabbat Bhari Shayari, Heart Touching Mohabbat Shayari in Hindi,

 

 

तेरी जिद से तंग होकर इस्तीफा देने चला है ये दिल,
कोई इसे समझाओ की इश्क़ में फिर से चुनाव नहीं होते !!

 

जाने कौन से गम को छुपाने की कोशिश थी उनकी,
आज हर बात पर उनको मुस्कुराते देखा !!

 

ये नादानी भी सच में बेमिसाल है उनकी,
अंधेरा दिल में है और चिराग मन्दिरों में जलाते है !!

 

मेरा और उस चाँद का मुकद्दर एक जैसा है,
वो तारों में तन्हा है और मैं यारों में !!

 

दिल के दरवाज़े तुम खुले ही रखना,
देर लगेगी मुझको मगर मैं आऊंगा ज़रूर !!

 

इंतजार किया है तेरा इतना वहाँ की,
अब आने जाने वाले वाले हर शख्स की आहटे पहचानता हूँ !!

 

लोगो ने रोज़ ही नया कुछ माँगा खुदा से,
एक हम ही है जो तेरे ख्याल से आगे न गये !!

 

हम तो उसकी हर ख्वाहिश पुरी करने का वादा कर बैठे,
हमे क्या पता की हमें छोड़ना भी उसकी ख्वाहिश थी !!

 

 

खूश्बु कैसे ना आये मेरी बातों से यारों,
मैंने बरसों से एक ही फूल से जो मोहब्बत की है !!

 

बड़े याद आते है वो भूले बिसरे दिन,
कुछ आपके साथ, कुछ आपके बिन !!

 

पागल उसने कर दिया एक बार देखकर,
मैं कुछ भी ना कर सका लगातार देखकर !!

 

मोहब्बत में यही खौफ क्यूँ हरदम रहता है,
कहीं मेरे सिवा किसी और से तो मोहब्बत नहीं उसे !!

 

गहरी नींद सोने वाले मोहब्बत कर नहीं सकते,
सुकून कहाँ है इतना मोहब्बत करने वालो को !!

 

छोड़ दिया हमने दुनिया की तरफ नजरे रखना,
जब घर में ही दुनिया मिल गई है तो दुनिया में कोई घर क्यूँ ढूंढू !!

 

मैं तो फना हो गया उसकी एक झलक देखकर,
ना जाने हर रोज़ आईने पर क्या गुजरती होगी !!

 

छू जाते हो कितनी दफा तुम मुझे ख़्वाब बन कर,
ये दुनिया तो यूँ ही कहती है की तुम मेरे करीब नहीं !!

 

हम तो आशिक लोग है हमारे हाथो में,
जख्म पहले लिखे जाते है तकदीर बाद में !!

 

हम कुछ ना कह सके उनसे इतने जज्बातो के बाद,
हम अजनबी के अजनबी ही रहे इतनी मुलाकातो के बाद !!

 

किसी से नाराजगी इतने वक़्त तक न रखो की,
वो तुम्हारे बगैर ही जीना सीख जाए !!

 

जिन्दगी में चार चीजे कभी भी आ सकती है,
नींद, पैसा, मौत और मेरी याद, लो आ गई ना ?

 

अब तु ही बता दे कैसे करुँ मैं इजहार-ए-ईश्क ?
शायरी तु समझती नही और अदाए मुजे आती नही !!

 

तुम्हारा शक सिर्फ हवाओ पे गया होगा,
चिराग खुद भी तो जल-जल के थक गया होगा !!

 

जब दो टूटे हुए दिल मिलते है,
तब मोहब्बत में धोखा नहीं होता !!

 

कहते है ईश्क एक गुनाह है,
जिसकी शुरूआत दो बेगुनाहो से होती है !!

 

जब से तेरी याद मेरे दिल में समायी है,
ए जान, सच कहता हु मुझे नींद नहीं आई है !!

 

अब मायूस क्यूँ है उसकी बेवफाई से ए दोस्त,
तुम ही तो कहते थे की वो जुदा है सबसे !!

 

ये दिल भी कितना पागल है,
हंमेशा उसी की फिकर में डुबा रहता है जो इसका होता ही नहीं है !!

सबूत तो गूनाहो के होते है,
बेगुनाह मोहब्बत का क्या सबूत दू ?

 

हमने तो सिर्फ अपने आंसुओं की वजह लिखी है,
पता नहीं लोग क्यों कहते है की वाह ! क्या ग़ज़ल लिखी है !!

 

जिस परिंदे को अपनी उड़ान से फुरसत ना थी कभी,
आज हुआ तनहा तो मेरी ही दिवार पे आ बैठा !!

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *